जानिए क्यों खुदा हाफिज 2 के मेकर्स फ़िल्म की रिलीज के पहले ही माफी मांगते हुए दिखाई दे रहे है।

विद्युत जामवाल और शिवालिका ओबरॉय अभिनीत अपकमिंग फिल्म खुदा हाफिज 2 अपनी रिलीज से पहले ही विवादों में घिर गई है और विवाद भी ऐसा कि मेकर्स को इस पर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी पड़ रही है।

दरअसल विवाद इस फिल्म के एक गाने ‘हक हुसैन’ के बोल को लेकर हो रहा है। विवाद के मुताबिक इस गाने के बोल पर मुस्लिम समुदाय के लोगों को आपत्ति है। इस वजह से फिल्म के मेकर्स को इस गाने को लेकर मुस्लिम समुदाय से माफी मांगनी पड़ी है। मेकर्स ने इस संबंध में एक बयान भी जारी किया है।

Image Credit- Khuda Hafiz 2

अभी कुछ ही समय पहले फिल्म खुदा हाफिज का एक गाना हक हुसैन रिलीज किया गया था। इस गाने के प्रति शिया समुदाय के लोगों ने अपनी नाराजगी जाहिर की है।

उनके अनुसार गाने में हुसैन शब्द का इस्तेमाल गलत तरीके से किया गया है क्योकि इसमें आपत्तिजनक सीन हैं। उन लोगों ने हुसैन शब्द और जंजीर के इस्तेमाल पर भी आपत्ति जताई है। इन सब के बाद फ़िल्म के मेकर्स ने इस पर माफी भी मांगी है और सोशल मीडिया पर अपना बयान भी जारी किया है।

Image Credit-Khuda Hafiz 2

फ़िल्म के मेकर्स ने यह बयान जारी किया-

हमने मुस्लिम शिया समुदाय की बातों को संज्ञान में लेते हुए हमारे फ़िल्म के एक गाने हक हुसैन में बदलाव करने का फैसला किया है। सीबीएफसी सेंसर बोर्ड की अनुमति से हमने जंजीर ब्लेड वाले दर्शय भी हटा दिए हैं और 'हक हुसैन' को 'जुनून है' में बदल दिया है। 

अगर हमारी किसी वजह से शिया समुदाय के लोगों की भावनाओ को ठेस पहुची है तो हम उनसे तहे दिल से माफी मांगते हैं। हमारा इरादा कभी भी किसी समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं था। आगे उन्होंने कहा- हमने फिल्म में किसी भी शिया समुदाय के सदस्य को गलत तरीके से पेश नही किया है और न ही शिया समुदाय के किसी व्यक्ति पर हमला करते हुए दिखाया गया है।

फ़िल्म के मेकर्स ने यह भी बताया कि इस गाने के माध्यम से वह सिर्फ इमाम हुसैन की गौरव गाथा दिखाना चाहते थे। 8 जुलाई को फ़िल्म खुदा हाफिज 2 सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

Leave a comment